शिलाजीत से निकलवाये 2 मिन्ट मर चींखें

loading...

शिलाजीत एक प्राचीन हर्बल और गुणकारी औषधी होती है. शिलाजीत एक प्रकार का चिपचिपा पदार्थ होता है जो मुख्य रूप से हिमालय की चट्टानों में पाया जाता है. ये स्वाद में बहुत कड़वा, गर्म, वीर्यवद्र्धक और कसैला होता है और इसका रंग देखने में तारकोल की तरह काला तथा गाढ़ा होता है. यह बहुत धीमी गति से विकसित होता है.

शिलाजीत का प्रयोग आमतौर पर आयुर्वेदिक चिकित्सा में किया जाता है. यह एक प्रभावी और सुरक्षित हर्बल होता है जो हमारी सेक्स पॉवर बढ़ने के साथ-साथ हमारे समग्र स्वास्थ्य पर सकारात्मक प्रभाव डालता है. ये हमारे शरीर के लिए फायदेमंद है. यह चार प्रकार का होता है और प्रत्येक प्रकार के गुण और लाभ अलग-अलग होते हैं.

शिलाजीत के सेवन से हमारे शरीर को बहुत फायदे होते है लेकिन इसके सेवन से पहले कुछ सावधानियों का भी ध्यान रखना पड़ता है.

शिलाजीत के सेवन के फायदे –

अल्जाइमर रोग-

 

अल्जाइमर रोग एक ऐसा प्रगतिशील मस्तिष्क रोग है जो आपके मस्तिष्क में परेशानी उत्पन्न करता है. ये ऐसा विकार है जो स्मृति, व्यवहार और सोच के साथ कुछ अलग तरह की समस्याएं पैदा करता है. अल्जाइमर के लक्षणों में सुधार लाने के लिए इसकी दवा में शिलाजीत का उपयोग होता है. ये अल्जाइमर रोग के उपचार कारगार साबित होता हैं.

कुछ शोधकर्ताओं का मानना है कि दवा के रूप में शिलाजीत अल्जाइमर की प्रगति को धीमा या कम कर सकता है. शिलाजीत में एक एंटीऑक्सीडेंट होता है जिसे फुलिक एसिड कहा जाता है. हमारे शरीर में प्रोटीन के संचय को रोकने के द्वारा शिलाजीत एक शक्तिशाली एंटीऑक्सीडेंट का काम करता है. प्रोटीन हमारे तंत्रिका तंत्र का एक महत्वपूर्ण हिस्सा हैं लेकिन इसका संचय मस्तिष्क कोशिका को क्षति कर इसकी गति को धीमा कर देता है. शिलाजीत में फुलिक एसिड प्रोटीन के संचय को रोकता है और सूजन को कम करता है.

टेस्टोस्टेरोन स्तर को बढ़ाता है-

 

टेस्टोस्टेरोन एक प्राथमिक पुरुष सेक्स हार्मोन है लेकिन कुछ पुरुषों के पास दूसरों की तुलना में ये कम स्तर में होता है. कम टेस्टोस्टेरोन के लक्षण वाले पुरुषों को कुछ समस्याओं का सामना करना पड़ता है जिसमें शामिल हैं: सेक्स इच्छा में कमी, बालों का झड़ना, मांसपेशियों का नुकसान, थकान, अनिंद्रा, शरीर में वसा का उच्चा स्तर आदि. एक अध्यन्न के अनुसार, अगर कोई पुरुष 250 मिलीग्राम (मिलीग्राम) शुद्ध शिलाजीत की खुराक लेता है तो लगभग 3 महीनो में उनका टेस्टोस्टेरोन का स्तर बढ़ जाता है.

 

शारीरिक स्टेमिना से सम्बंधित अन्य बीमारी-

 

शारीरिक स्टेमिना से सम्बंधित अन्य बीमारी जिनमें शामिल हैं:

  • पुलनुमारी इडिमा
  • अनिद्रा
  • सुस्ती या थका हुआ महसूस करना
  • बदन दर्द
  • पागलपन
  • हाइपोक्सिया

ये सभी लक्षण हाई अलटीटूड के कई लक्षणों को ट्रिगर करता है. वायुमंडलीय दबाव, ठंड या तेज हवा के चलने से, ऊंचाई से होने वाली बीमारी को ट्रिगर करता है. शोधकर्ताओं का मानना है कि शिलाजीत का सेवन हाई अलटीटूड के कई लक्षणों की समस्याओं को दूर करने में  मदद कर सकता है. शिलाजीत में फुलवीक एसिड और 84 से अधिक खनिज शामिल होते हैं जो कई स्वास्थ्य लाभ प्रदान करता है. यह आपके शरीर की प्रतिरक्षा और स्मृति बढ़ाने, एंटी-इन्फ्लैमटरी, ऊर्जा बढ़ाने और हमारे शरीर से अतिरिक्त द्रव को निकालने के लिए एक एंटीऑक्सिडेंट के रूप में कार्य कर सकता है.

शिलाजीत शरीर को हर प्रकार से मज़बूती देता हैं.

नपुंसकता, स्वप्नदोष, धातु दोष आदि ऐसी समस्याएं हैं जो वैवाहिक जीवन को बहुत अधिक प्रभावित करती हैं. असंयमित खान-पान या शरीर में पोषक तत्वों के कारण या अन्य गलत आदतों से पुरुषों को दुर्बलता या कमजोरी की परेशानी होने लगती हैं. शिलाजीत सभी प्रकार के रोगो जैसे  सेक्स पावर कम  होना, स्वप्नदोष तथा वीर्य का शीघ्र गिरना आदि रोगों को दूर करके शरीर को मजबूती प्रदान करता है। शिलाजीत बहुमूत्र की समस्या को भी सही करता हैं. शिलाजीत शरीर को हर  प्रकार से मज़बूती देता हैं. शिलाजीत का सेवन ब्लड शुगर को नियंत्रण में रखता है। शिलाजीत  को मधुमेह विनाशक कहा जाता हैं. शिलाजीत का सेवन आपके इम्यून सिस्टम को ठीक रखता हैं. शिलाजीत का सेवन शारीरिक ताक़त बढ़ाने के साथ-साथ दिमागी ताक़त भी बढ़ाता हैं. शिलाजीत का सेवन ब्लड प्रेशर को ठीक रखता हैं और आपको लम्बे समय तक जवां रखता हैं.

 

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*