भाभी ने किया देवर का बलात्कार देखिये

loading...

विडियो सबसे निचे दी जा रही हैं भारतीय टीम ने अंडर-19 क्रिकेट वर्ल्ड कप फाइनल में ऑस्ट्रेलियाई चुनौती ध्वस्त कर सर्वाधिक चौथी बार अंडर-19 वर्ल्ड कप पर कब्जा जमाया. बिहार के समस्तीपुर के रहने वाले अनुकूल रॉय अंडर 19 वर्ल्ड कप का स्टार खिलाड़ी बनकर उभरे हैं. एक साथ पढ़िए शनिवार शाम की पांच बड़ी खबरें.भारतीय टीम ने अंडर-19 क्रिकेट वर्ल्ड कप जीत लिया है. शनिवार को फाइनल में उसने ऑस्ट्रेलियाई चुनौती ध्वस्त कर सर्वाधिक चौथी बार अंडर-19 वर्ल्ड कप पर कब्जा जमाया. भारतीय टीम आखिरी बार 2012 में उन्मुक्त चंद की कप्तानी में चैंपियन बनी थी. फाइनल में टीम इंडिया ने ऑस्ट्रेलिया को 8 विकेट से मात दी.बिहार के समस्तीपुर के रहने वाले अनुकूल रॉय अंडर 19 वर्ल्ड कप का स्टार खिलाड़ी बनकर उभरे हैं. न्यूजीलैंड में हुए इस वर्ल्ड कप में अनुकूल रॉय एक हरफनमौला खिलाड़ी के रूप में निखरे हैं. उन्होंने रन भी बनाए और भारत की तरफ से सबसे ज्यादा 14 विकेट भी लिए. अनुकूल की सफलता से समस्तीपुर झूम रहा है.सुप्रीम कोर्ट में 8 फरवरी से अयोध्या विवाद मामले में होने वाली सुनवाई से पहले मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड अपनी तैयारी में जुट गया है. अयोध्या मामले में SC में सुनवाई से पहले मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड की कानूनी विशेषज्ञों के साथ अहम बैठक हुई है. बोर्ड ने कानून विशेषज्ञों के साथ शनिवार को दिल्ली के इंडियन इस्लामिक कल्चरल सेंटर में बैठक की.छत्तीसगढ़ के बस्तर जिले में स्कूल का इंस्पेक्शन करने पहुंची टीम के तब होश उड़ गए, जब एक महिला टीचर नशे में टुन्न होकर पढ़ाती मिलीं. इतना ही नहीं इंस्पेक्शन टीम को पता चला कि आरोपी महिला टीचर रोजाना ही शराब पीकर पढ़ाने आती हैं. इसके बाद इंस्पेक्शन टीम ने आरोपी महिला टीचर को सस्पेंड करने की सिफारिश बस्तर कलेक्टर को भेज दी.
कश्मीर के बारामूला में सुरक्षाबलों ने पाकिस्तान से ट्रेनिंग लेकर आए दो लश्कर के आतंकियों को गिरफ्तार कर लिया. दोनों आतंकियों को सेना और सीआरपीएफ ने संयुक्त ऑपरेशन में दबोचा. दोनों आतंकी वीजा लेकर पाकिस्तान गए थे. वहां उन्होंने हथियारों की ट्रेनिंग ली और कश्मीर में खून-खराबा करने के इरादे से घाटी लौट आए.दोस्तों आप सब जानते हैं कि समय कभी एक समान नहीं रहता है।

इसलिए हर एक व्यक्ति अपने जीवन में एक समान नहीं रह सकता, क्योंकि कभी गरीब तो कभी अमीर होता है, लेकिन इस लेख को पढ़ने के पश्चात आपके विचारों में परिवर्तन आ जाएगा,जो जिंदगी भर आपके लिय सबसे सर्वोत्तम होगा, क्योंकि जब समय खराब चलता है, तो उसका साथ देने के लिए उसके साथ कोई भी खड़ा नहीं होता, लेकिन जब वही मनुष्य पैसों से अमीर होता है, तो उनके आगे पीछे बहुत लोग होते हैं। इसलिए हर मनुष्य को समय तथा परिस्थिति के अनुसार साथ देना चाहिए, चाहे वो गरीब ही क्यों ना हो।दोस्तों इस दुनिया में दुख का समय सबसे खराब होता है और यह दुख अमीर और गरीब दोनों ही लोगों के लिए एक समान होता है, चाहे वह कैसा भी दुख हो। पंडित आचार्य चाणक्य ने बताया कि गरीबी का सबसे मुख्य कारण इंसान खुद होता है और यह बात शास्त्रों, वेद पुराणों में भी लिखा गया है, क्योंकि जब मनुष्य अपने जीवन में मेहनत करके नहीं कमाएगा, तो वह कभी सफल नहीं हो सकता और सफलता के लिए उसे आगे बढ़ कर मेहनत करनी पड़ेगी, उसके पश्चात कामयाबी आपके कदम चूमेगी तथा गरीबी के समय, जो लोग साथ नहीं देते वह लोग भी आपके आगे पीछे रहेंगे और यह सब आपकी बुद्धि का इस्तेमाल करके करना होगा तथा घमंड करने से मनुष्य का जीवन नष्ट हो जाता है।इसलिए दोस्तों मनुष्य को अपने जीवन में कभी घमंड नहीं करना चाहिए, दूसरों का साथ देना चाहिए, कभी भी गरीब का मजाक नही उड़ाना चाहीय तथा अपने से बड़ों की इज्जत करनी चाहिए, तभी आपको आपकी जिंदगी में मान सम्मान मिलेगा तथा आगे बढ़ पाओगे और आप इन सुझावों को कभी भी भुलना मत यही आपकी सबसे बड़ी कामयाबी होगी।दोस्तों अगर आपको हमारी यह खबर अच्छी लगे तो कमेंट करके बताएं और लाइक और शेयर जरूर कीजिए और आगे भी ऐसे ही खबर पढ़ते रहने के लिए हमें फॉलो करना ना भूलें, क्योंकि हम हर रोज ऐसी खीर आपके लिए लाते रहते हैं।

मोदी सरकार ने अपने आखिरी पूर्ण कालिक बजट में आयुष्मान भारत नाम की फ्लैगशिप योजना शुरू करने का एलान किया। जिसे मोदी केयर भी कहा जा रहा है। नेशनल हेल्थ प्रोटेक्शन स्कीम के तहत भारत के 10 करोड़ परिवारों को 5 लाख रुपये तक का बीमा उपलब्ध कराया जाएगा। इसके लिए हर साल 12 हजार करोड़ का खर्च आएगा। जिसके अंतर्गत 50 करोड़ लोगों की सुरक्षा निश्चित की जाएगी। बजट पेश करने के बाद अरुण जेटली ने ओपन हाउस में कहा था कि इसे 1 अप्रैल से लागू किया जाएगा। इधर नीति आयोग के मुताबिक यह योजना इस साल 15 अगस्त या 2 अक्टूबर से लागू की जा सकती है।वहीं जेपी नड्डा ने इस बारे में बात करते हुए कहा कि इस योजना को राज्य और केंद्र सरकार के संयुक्त प्रयास से लागू किया जाएगा। उन्होंने बताया कि 2000 करोड़ रुपये का आवंटन किया जाएगा। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री जेपी नड्डा ने बताया कि इस योजना को केंद्र और राज्य सरकार के संयु्क्त प्रयास द्वारा लागू किया जाएगा। जिसमें 60 प्रतिशत का योगदान केंद्र सरकार का होगा और 40 प्रतिशत का योगदान राज्य सरकारों द्वारा किया जाएगा।इस योजना को लागू करने के लिए शिक्षा और स्वास्थ्य सेस के द्वारा एकत्रित राशि का इस्तेमाल किया जाएगा। 5 लाख रुपये तक का बीमा देने के लिए हर परिवार पर 1100 से 1200 रुपये तक का प्रीमियम आएगा। केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव प्रीति सुडान ने बताया कि इस योजना में परिवार के सदस्यों की संख्या पर कोई पाबंदी नहीं है। उन्होंने कहा कि इंश्योरेंस के मॉडल का चुनाव राद्य सरकारों की सहमति से किया जाएगा |ट्रेन में सफर कर रही एक मलयाली एक्ट्रेस के साथ छेड़छाड़ का मामला सामने आया है. सानुषा नाम की एक्टरेस के साथ मवेली एक्सप्रेस में सफर के दौरान ये हादसा हुआ. सानुषा मवेली एक्सप्रेस ट्रेन में अपर बर्थ पर सो रहीं थीं, तो एक आदमी ने आकर उनके होंठ पर हाथ रख दिया. इसके बाद उन्होंने सफर कर रहे बाकी यात्रियों से मदद की गुहार लगाई लेकिन सानुषा की मदद के लिए कोई आगे नहीं आया.बता दें कि 23 वर्षीय सानुषा मंगलुरु सेंट्रल से तिरुवनंतपुरम की तरफ मवेली एक्सप्रेस में सफर करने के दौरान आराम से सोते समय जब एक शख्स ने आकर उनके होंठ पर हाथ रखा, तो वो दंग रह गईं. उन्होंने तुरंत गलत हरकत करने वाले उस शख्स का हाथ पकड़ कर मरोड़ दिया. इस दौरान सानुषा ने नीचे की बर्थ पर सो रहे व्यक्ति से मदद मांगी लेकिन मायूसी मिली.इस दौरान सानुषा ने मदद के लिए जोर से आवाज लगाई. इस दौरान पूरे बोगी से केवल दो लोग ही उनकी मदद को आगे आए.

इन दोनों लोगों ने पहले तो टीटी को ढूंढा, तब तक सानुषा ने गंदी हरकत करने वाले आरोपी को कसकर पकड़े रखा. टीटी के आने के बाद इसकी सूचना रेलवे पुलिस को दी. अगले ही स्टेशन पर पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया.रेलवे पुलिस ने सानुषा की शिकायत पर आरोपी के खिलाफ आईपीसी की धारा 354 के तहत एफआईआर दर्ज कर ली है और उसे 14 दिनों के लिए पुलिस कस्टडी में भेज दिया है. सानुषा ने अपने साथ हुई घटना के जिक्र में कहा, “अगर यही बात मैं सोशल मीडिया पर लिखती तो हर कोई मेरे साथ सहमत होता लेकिन असल में कोई मेरी मदद को आगे नहीं आया. मेरे खयाल से लोग केवल फेसबुक पर ही विरोध दर्ज कराते हैं.”बॉलीवुड की ड्रीम गर्ल हेमा मालिनी अपने जमाने की सुपर स्टार हिरोइन हुआ करती थी। आज भी लोग हेमा मालिनी की एक झलक पाने के लिए बेताब रहते हैं।
उन्होंने 1963 में तमिल फिल्म ‘इथू साथियम’ में एक डांसर और सह कलाकार की भूमिका निभाते हुए फिल्म इंडस्ट्री में कदम रखा था। इसके बाद हेमा मालिनी ने 1968 में फिल्म ‘सपनों के सौदागर’ से बॉलीवुड में एंट्री की थी। इसके बाद उन्हें फिल्मे मिलने का सिलसिला चलता रहा और आज वो दुनियां भर में एक जाना माना नाम हैं।हाल ही में उनकी बायोग्राफी ‘बियॉन्ड द ड्रीम गर्ल’ (Beyond The Dream Girl) लॉन्च हुई हैं। इस बायोग्राफी में पीएम नरेन्द्र मोदी ने हेमा मालिनी के लिए एक मिठास से भरा प्रस्तावना भी लिखा हैं जिसकी चर्चाएँ भी खूब हो रही हैं।क्या आप जानते हैं 70 के दशक के मशहूर सितारे संजीव कुमार का दिल हेमा मालिनी पर आ गया था। इन दोनों के प्रेम के किस्से 70 के दशक में काफी चर्चा में रहे थे। संजीव कुमार हेमा मालिनी से बेहद प्रेम करते थे।

लेकिन दुर्भाग्यवश यह प्रेम एक तरफ़ा ही रहा। एक बार जब संजीव कुमार ने हेमा मालिनी के सामने अपना प्रेम प्रस्ताव रखा तो हेमा मालिनी ने उसे ठुकरा दिया। ऐसा कहा जाता हैं कि इस रिजेक्शन से संजीव कुमार इतने हातात हुए कि उन्होंने जिंदगी भर तक किसी ओर से शादी नहीं की और कुंवारे ही रह गए। यहां तक कि कई रातें उन्होंने हेमा के घर के बाहर गुजारी थीं। उनकी मौत के बाद हेमा ने एक कार्यक्रम में उनकी जमकर तारीफ की थी। तब कहा जाने लगा था कि हेमा को देर से ही सही संजीव का प्यार समझ आया लेकिन तब तक काफी देर हो चुकी थी।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*